[NEW 2022] Data Science क्या है, और कैसे काम करता है?

Data Science बहुत बड़े Data का क्षेत्र है और डेटा साइंस एक ऐसी सांइस है जो Data के साथ “वास्तविक घटनाओं को समझने और उनका विश्लेषण करने” के लिए उपयोग किया जाता है।

Data Science “सांख्यिकी, डेटा विश्लेषण, सूचना विज्ञान और उनके संबंधित तरीकों को एकीकृत करने की एक अवधारणा” है। जो बहुत सी जगह पर गुप्त तरीके से कार्य करती है।

इसके अलावा डेटा साइंस Hollywood और Bollywood Films की देखे रेख करने और उसके Animation को बहुत ही आसानी के साथ बदलने का काम कर सकता है। इसलिए अब इस Data Science आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का भविष्य भी कहा जाता है।

दोस्तों हम आपको बता दें कि आज के जमाने में Data Science बनना एक बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल करने के बराबर है इसलिए आप लोगों को Data Science क्या है और डाटा साइंटिस्ट कैसे बने इसके बारे में जरूर जाना चाहिए क्योंकि इस जमाने में डाटा साइंटिस्ट के बारे में अधिकतर लोगों को कुछ खास जानकारी नहीं है तो आइए हम लोग इसके बारे में अच्छी तरह से जान लेते हो :-

Table of Contents

Data Science क्या है?

जैसे-जैसे हमारी दुनिया इस Big Data के युग में प्रवेश कर रही है, वैसे वैसे इस Big Data को Store करने की आवश्यकता बढ़ती जा रही है।

Data Science क्या है?
Data Science क्या है

आपको बता दे की सन 2010 तक बड़े बड़े उद्यम उद्योगों (Enterprise Industries) के लिए Data को Store करना एक मुख्य चुनौती और चिंता थी। सभी Data Scientist का मुख्य ध्यान data को Store करने का समाधान बनाने पर था।

लेकिन अब Hadoop और अन्य Companys ने Data को Store करने की समस्या को सफलतापूर्वक हल कर लिया है, तो अब सबका ध्यान इस डेटा के Processing पर Transferred करने पर हो गया है।

डेटा साइंस यहां की Secret Source है। आप हॉलीवुड की विज्ञान-फाई फिल्मों में जो भी विचार देखते हैं, वे वास्तव में डेटा साइंस द्वारा वास्तविकता में बदल सकते हैं।

डेटा साइंस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भविष्य है। इसलिए, यह समझना बहुत महत्वपूर्ण है कि Data Science क्या है और यह आपके व्यवसाय में मूल्य कैसे जोड़ सकता है।

Data Science की परिभाषा

Data Science बहुत बड़े Data का क्षेत्र है और डेटा साइंस एक ऐसी सांइस है जो Data के साथ “वास्तविक घटनाओं को समझने और उनका विश्लेषण करने” के लिए उपयोग किया जाता है।

Data Science का इतिहास क्या है?

सन 1962 में जॉन तुकी ने एक क्षेत्र के बारे मे बताया था जिसे उन्होंने “Data संशोधन” कहा । जो आज के data Science से बहुत ज्यादा मिलता जुलता है।

 Data Science का इतिहास क्या है?
Data Science का इतिहास क्या है?

इसके बाद, सन 1992 में यूनिवर्सिटी ऑफ़ मोंटपेलियर II में एक सांख्यिकी सेमिनार हुआ इसके बाद इस सेमिनार में शामिल होने वाले लोगो ने माना कि अब एक नए ज्ञान का विकास हो रहा है।

जोकि विभिन्न प्रकार और स्त्रोतों के Data पर आधारित है, और उस समय के Statistics के Concepts तथा सिद्धांतों को तथा आंकड़ा विश्लेषण को Computer की गणना के साथ मिलाता है।

Data Science के कुछ English Words डाटा साइंस का इतिहास सन 1974 से पाया जाता है, इसके बाद जब पीटर नौर ने इसे “Computer Science” के दूसरे नाम के रूप में बताया था।

सन 1996 में, इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ क्लासिफिकेशन सोसायटीज़ मे पहला ऐसा सम्मेलन बना जिसने विशेष रूप से Data Science एक विषय के रूप में बताया गया था।

Data Science की आवश्यकता क्यों है?

पुराने जमाने में हमारे पास जो भी जानकारी थी, वह ज्यादातर संरचित और कम आकार की थी, जिसका Analysis करने के लिये हम लोगो को Business Intelligence उपकरण का उपयोग करना पढ़ता था। इस डेटा के विपरीत, आज ज्यादातर जानकारी असंरचित या अर्ध-संरचित है।

Data की इन सभी जानकारियों को एक अच्छे तरीके से संरक्षित करने और इसे analysis करने के लिए हमें Data Science की आवश्यकता पड़ती है।

डेटा साइंस 21वीं सदी के सबसे तेजी से बढ़ते करियर में से एक है। व्यवसायों से लेकर गैर-लाभकारी संगठनों से लेकर सरकारी संस्थानों तक, हर उद्योग के पास बिग डेटा द्वारा उत्तर दिए गए महत्वपूर्ण प्रश्न हैं।

Data Science और टेक्नोलॉजी क्या है?

हम लोग डाटा साइंस उसे कहते हैं जिसके द्वारा हम किसी भी डाटा का Analysis करके उस डाटा की सारी जानकारी प्राप्त कर सकते है। आज के समय में डाटा साइंस कंप्यूटर विज्ञान का ही एक हिस्सा बन गया है, आज के Time मे डाटा साइंस Statistics Mathematics, Information Theory, Information Technology आदि जैसे कई क्षेत्रों में इस तकनीकों का उपयोग हो रहा है।

टेक्नोलॉजी क्या है? :- Technology वस्तुओं या सेवाओं के उत्पादन में या वैज्ञानिक जांच जैसे उद्देश्यों की पूर्ति में उपयोग की जाने वाली किसी भी तकनीक, कौशल, विधियों और प्रक्रियाओं का योग है। Technology में आमतौर पर उपकरण का एक विशिष्ट टुकड़ा शामिल होता है, लेकिन वह उपकरण अविश्वसनीय रूप से सरल या चमकदार जटिल हो सकता है। यह Technology पहिए की खोज से लेकर कंप्यूटर तक सब कुछ हो सकता है।

Data Science के अनुप्रयोग

Data Science एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर किसी भी कठिन समस्या को सामन्य बनाते है जिसे हर प्रकार के उद्योग में लागू किया जा सकता है।

प्रत्येक कंपनी अपनी अलग-अलग समस्या का हल पाने के लिए डाटा साइंस को उसी प्रकार से अलग-अलग एप्लीकेशन का use करती हैं।

कुछ कंपनियां विशेष प्रकार की समस्याओं का हल पाने के लिए पूरी तरह से डाटा साइंस और मशीन लर्निंग प्रोग्राम का उपयोग करती है क्योंकि इसके बिना वह समस्या हल नहीं हो सकती।

डाटा साइंस के कुछ ऐसे एप्लीकेशन निम्नलिखित हैं जो कि उपयोग में लाए जाते हैं-

  1. spam filter (Gmail)
  2. abusive content and hate speech filter (Facebook)
  3. automatic Piracy detection (YouTube)
  4. internet search result (Google)

Data Science और Data Analytics के बीच अंतर क्या है

Data Science और Data Analytics अक्सर एक दूसरे के स्थान पर ही प्रयोग किए जाते हैं और यह सब एक दूसरे से काफी ज्यादा मिलते जुलते हैं। लेकिन भले ही दोनों सब एक जैसे लगते हो लेकिन इन दोनों का मतलब अलग अलग ही होता है।

Data Science एक बहुत बड़े अध्ययन का क्षेत्र है जिसके अंतर्गत मशीन लर्निंग की डाटा एनालिटिक्स और डाटा माइनिंग आदि विषय आते हैं।

Data Analytics का तात्पर्य दी गई जानकारी के बारे में निष्कर्ष निकालने के लिए कच्चे डाटा के विश्लेषण या निगरानी करने के विज्ञान से है।

डाटा साइंस के फायदे

डाटा साइंस के फायदे निम्नलिखित है जो कि कुछ इस प्रकार हैं-

  • व्यापार की भविष्य मे बढ़ाने मे मदत करता है
  • रीयल-टाइम इंटेलिजेंस सुनिश्चित करता है
  • खरीदारी और बिक्री के क्षेत्र मे पक्षधर हैं
  • डेटा सुरक्षा में सुधार करता है
  • जटिल डेटा की व्याख्या करने में मदद करता है
  • निर्णय लेने की प्रक्रिया को सुगम बनाता है

डाटा साइंस के उपयोग 

डाटा साइंस के फायदे कंपनी के लक्ष्य और संसाधानों पर भी निर्भर करती हैं की कंपनी किस तरह का काम करती है और किस तरह से संसाधनो को इस्तेमाल करती है।

उद्धारण के लिये हम यह देख सकते हैं की कुछ company users के Data को खरीदती हैं और फिर उसका विश्लेषण करती हैं।

डेटा साइंस पैटर्न की पहचान कर सकता है, जो प्रतीत होता है कि असंरचित या असंबंधित डेटा से अनुमान और भविष्यवाणियां करने की अनुमति देता है।

उपयोगकर्ता डेटा एकत्र करने वाली टेक कंपनियां उपयोगी या लाभदायक जानकारी के स्रोतों में एकत्रित की गई चीज़ों को बदलने के लिए तकनीकों का उपयोग कर सकती हैं।

Data Science कैसे काम करता है?

Data Science में scientist कच्चे Data को एनालिसिस करके उसे सरल और सुगम बनाते हैं जिससे उस डाटा को सभी लोग आसानी से समझ सके और उसे उपयोग में ला सकें।

डेटा वैज्ञानिकों को डेटा इंजीनियरिंग, गणित, सांख्यिकी, उन्नत कंप्यूटिंग और विज़ुअलाइज़ेशन से लेकर हर चीज़ में कुशल होना चाहिए जिससे वह कठिन डाटा को सरल भाषा में बदल सके।

डाटा साइंस एक बहुत बड़ी संस्था है जो कि सिर्फ डाटा पर ही कार्य करती है और उस डाटा को सभी लोग आसानी से उपयोग कर सके ऐसा बनाने में कार्य करती है

Data Scientist कैसे बने?

Data Scientist बनने के तीन सामान्य चरण हैं :-

Data Scientist कैसे बने?
Data Scientist कैसे बने?
  1. सबसे पहले आपके पास IT, कंप्यूटर विज्ञान, गणित, व्यवसाय, या किसी अन्य संबंधित क्षेत्र की स्नातक की डिग्री होनी आवश्यक है।
  2. फिर उसके बाद डेटा या संबंधित क्षेत्र की मास्टर डिग्री भी होनी आवश्यक है।
  3. उस क्षेत्र में जितना हो सके उतना अनुभव प्राप्त करें जिसमें आप काम करना चाहते हैं (उदाहरण के लिए:- स्वास्थ्य देखभाल, भौतिकी, व्यवसाय)।

Data Scientist कैसे काम करते है?

Data Scientist डेटा को इकट्ठा करते है उसे व्यवस्थित करके उसका विश्लेषण करते है, जो उद्योग के हर कोने और आबादी के हर वर्ग के लोगों की मदद करता है।

आपको बता दे की Data Scientist educational background की एक विस्तृत श्रृंखला से आते हैं, और सभी के पास किसी न किसी प्रकार की तकनीकी स्कूली शिक्षा होती है।

Data Scientist की degree में Computer से संबंधित बड़ी companies की एक विस्तृत श्रृंखला, साथ ही Maths और statistics के Area शामिल हैं।

व्यवसाय या मानव व्यवहार में प्रशिक्षण भी आम है, जो DATA SCIENCE के काम में अधिक सटीक निष्कर्ष निकालता है।

इसे भी पढ़ें 👉 Metaverse Technology Kya Hai 2022

Data Scientist क्यो आवश्यक है?

आज के जमाने मे लगभग अनंत मात्रा में data की जानकारी उपलब्ध है, इसलिए उसे Access करने के लिये हमे Data Scientist की लगभग अनंत मात्रा में उपयोग हैं।

Data Scientist कैसे बने?

Data Scientist साइंटिस्ट बनने के लिए योग्यता

Data Scientist बनने के लिए candidate के पास कई प्रकार की योग्यता होनी चाहिए है जो की कुछ इस प्रकार है-

  1. Education
  2. Programming

Technical Skills: Computer Science

Non-Technical Skills

  • Intellectual curiosity 
  • Business acumen 
  • Communication skills 
  • Teamwork

Data Scientist बनने के लिए Course

Data Scientist बनने के लिए candidate के पास निम्नलिखित प्रकार के Course की योग्यता होनी चाहिए है जो की कुछ इस प्रकार है-

आपके पास Maths, Computer Science, Applied Science, Electrical या mechanical engineering में MTech and MS की degree होनी चाहिये।

इसके अलावा आपके पास statistical modeling और probability का भी ज्ञान होना आवश्यक है और साथ ही आपको Python, Java, R, CSS जैसी Programming Language की भी जानकारी होनी चाहिए।

Data Scientist की सैलरी कितनी होती है?

दोस्तो आपको हम बता दे की एक Data Scientist की शुरुआत में सैलरी 8 से 10 लाख रूपये प्रतिमाह होती है। और इसके अलावा Data Scientist के अनुभव के मुताबिक़, उनकी सैलरी होती है और एक Data Scientist को कम से कम लगभग 76 लाख रूपये वार्षिक सैलरी दी जाती है।

इन कंपनियों में डेटा साइंटिस्ट काम कर सकते है

Data Scientist मुख्य रूप से Google, Amazon, Microsoft, eBay, LinkedIn, Facebook और Twitter आदि बड़ी और छोटी Companies में काम कर सकते है,

एक डेटा साइंटिस्ट की Database और Information Integration, Cloud Computing, Natural Language आदि मे भी डेटा साइंटिस्ट की जरूरत होती है।

इसके अलावा डेटा साइंटिस्ट की Natural Processing, social और Information Network, Web Information Access, Business-Analysis आदि जगह ही एक Data Scientist काम कर सकते है क्योंकि, इन जगहों पर डेटा साइंटिस्ट की सबसे अधिक आवश्यकता पड़ती है।

डेटा साइंस मे पूछे जाने वाले प्रश्न

डाटा साइंस कोर्स क्या है

अगर हम एक सरल शब्दों में कहे तो Data Science सभी प्रकार के Data की एक पढ़ाई होती है, जिसमें हमे Data के Algorithm, Machine Learning Principles और विभिन्न Tools के बारे मे सिखाया जाता हैं।

डाटा साइंटिस्ट कितने प्रकार के होते हैं

डाटा साइंटिस्ट निम्नलिखित प्रकार के होते है :-
1:- जीव साइंटिस्ट
2:- वनस्पतिज्ञ साइंटिस्ट
3:- समाज साइंटिस्ट
4:- गणितज्ञ साइंटिस्ट
5:- प्रौद्योगिकी एवं कृषि साइंटिस्ट

डाटा साइंटिस्ट की सैलरी कितनी होती है

Data Scientist की शुरुआत में सैलरी 8 से 10 लाख रूपये प्रतिमाह होती है, और एक Data Scientist को कम से कम लगभग 76 लाख रूपये वार्षिक सैलरी दी जाती है।

डेटा साइंटिस्ट सैलरी इन इंडिया

India मे Data scientists की salaries काफी high होती हैं। शुरुआत में 6,00,000 से 10,00,000 रुपए प्रति वर्ष मिलती है। और उसके बाद जैसे-जैसे आपको data science के अंदर experience होता जाता है वैसे वैसे आपकी salary भी बढ़ती जाती है। भारत मे एक data scientists की Average Salary 8,50,000 रुपए सालाना तक होती हैं।

3 thoughts on “[NEW 2022] Data Science क्या है, और कैसे काम करता है?”

Leave a Comment

d3c62f11-b910-4777-82f9-e8b94f8d642e