[NEW 2022] NFTs क्या है? और NFT कैसे काम करता हैं?

NFTs क्या है? :- दोस्तो इस सालों NFTs की काफी ज्यादा चर्चा है इन्टरनेट पर या YouTube जहां देखो NFT की बाते चल रही है, शायद आपने पढ़ा या सुना होगा की Beeple की एक डिजिटल आर्ट NFTs के रूप में $69 Million Dollar में बिकी जो की दुनिया की महंगी NFTs है, Jack Dorsey का Twitter का सबसे पहला Tweet $2.9 Million Dollar में बिका।

लेकिन दोस्तों आपके मन में एक ख्याल तो जरूर आता होगा कि यह NFTs क्या है? Non Fungible Tokens कैसे काम करता हैं? और अपनी NFTs बना कर कैसे बेचे जिससे हम भी लाखों डॉलर काम आ सके।

दोस्तों आपको हम बता दें कि NFTs टेक्नोलॉजी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की तरह ही है पर यह ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी नहीं है यह ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से बहुत ही अलग है। लेकिन यह ब्लॉकचेन पर आधारित डाटा की एक नई टेक्नोलॉजी है जो कि डिजिटल लेजर का एक रूप है NFTs को हम बेचकर हम व्यापार करते हैं।

दोस्तों आप लोग सोच रहे होंगे कि यह NFTs होता क्या है। दोस्तों हम आपको बता दें कि NFTs डेटा इकाइ के रूप मे फोटो, वीडियो और ऑडियो जैसी डिजिटल फाइलों से जुड़े हो सकते हैं।

क्योंकि प्रत्येक NFTs टोकन एक विशिष्ट रूप से पहचाने जा सकते है, NFTs बिटकॉइन जैसी ब्लॉकचेन, क्रिप्टोकरेंसी से भिन्न होता है।

Non Fungible Tokens (NFTs) क्या है?

NFTs kya hai

NFTs टेक्नोलॉजी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी नहीं है, लेकिन यह ब्लॉकचेन पर आधारित डाटा की एक नई टेक्नोलॉजी है जो कि डिजिटल लेजर का एक रूप है।  ये एक यूनिक टोकन्स या डिजिटल असेट्स होते हैं, ये यूनिक आर्ट पीस होते हैं और इसका हर एक टोकन अपने आप में यूनिक होता है।

NFTs डेटा इकाइ के रूप मे फोटो, वीडियो और ऑडियो जैसी डिजिटल फाइलों आदि हो सकती है। क्योंकि प्रत्येक NFTs टोकन एक विशिष्ट रूप से पहचाने जा सकते है, NFTs बिटकॉइन जैसी ब्लॉकचेन, क्रिप्टोकरेंसी से भिन्न होता है।

NFTs में जो भी वस्तु किसी मनुष्य की होती है या खरीदता है, तो NFTs की कंपनी एक सार्वजनिक प्रमाण पत्र या स्वामित्व का प्रमाण पत्र प्रदान करता है जिससे हमें यह पता लगता है कि यह एनएसटी इस व्यक्ति की ही है।

लेकिन NFTs द्वारा बताए गए कानूनी अधिकार अनिश्चित हो सकते हैं। NFTs अंतर्निहित डिजिटल फाइलों के साझाकरण या प्रतिलिपि को प्रतिबंधित नहीं करते हैं।

यह डिजिटल फाइलों के कॉपीराइट को जरूरी नहीं बताते हैं, और एक समान संबद्ध रखने वाली फाइलों के साथ NFTs के निर्माण को नहीं रोकते हैं।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी क्या है?

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी एक प्लेटफॉर्म हैं जहां ना सिर्फ डिजिटल करेंसी बल्कि किसी भी चीज को डिजिटल रूप मे बनाकर उसका रेकॉर्ड रखा जाता है।

आसान भाषा में कहें तो ब्लॉकचैन एक डिजिटल बहीखाता हैं। जो भी ट्रांजैक्शन इस पर होता है, वो चेन में जुड़े हर कंप्यूटर पर दिखाई देता है। इसे क्रिप्टोकरेंसीज का बैकबोन भी कहा जाता है।

ब्लॉकचेन नेटवर्क पर किए गए ट्रांजैक्शन डेटा को ब्लॉक के तौर पर रिकॉर्ड करते हैं. कौन, कहां, कब, क्या और कितना जैसे इन्फॉर्मेशन के रिकॉर्ड्स को डेटा ब्लॉक बहुत अच्छे से दर्ज करता है और सेव रखता है. ये ब्लॉक्स डेटा की एक चेन यानी कड़ी बना देते हैं

NFTs की परिभाषा?

NFTs टेक्नोलॉजी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी नहीं है, लेकिन यह ब्लॉकचेन पर आधारित डाटा की एक नई टेक्नोलॉजी है जो कि डिजिटल लेजर का एक रूप है।

NFTs यानी की नॉन फंजिबल टोकन (Non-Fungible Tokens) एक तरह का डिजिटल एसेट या डेटा होता है, और इसे ब्लॉकचेन पर रिकॉर्ड किया जाता है. NFT एक तरह का डिजिटल टोकन होता है. इसमें आप इमेज, गेम, वीडियो, ट्वीट किसी को भी NFT में बदलकर मॉनेटाइज कर सकते हैं NFTs को हम लोग सट्टा मैच के रूप में भी समझ सकते हैं। जिसमें हम अपने पैसे को खर्च करते हैं, और उससे हम कोई NFTs फाइल खरीदते हैं।

NFTs डेटा इकाइ के रूप मे फोटो, वीडियो और ऑडियो जैसी डिजिटल फाइलों आदि हो सकती है। क्योंकि प्रत्येक NFTs टोकन एक विशिष्ट रूप से पहचाने जा सकते है, NFTs बिटकॉइन जैसी ब्लॉकचेन, क्रिप्टोकरेंसी से भिन्न होता है।

NFTs बाजार की संरचना को पोंजी योजना होने का दावा किया जाता है। और इसमे ब्लॉकचैन लेनदेन को मान्य करने के साथ-साथ कला घोटालों होने का मामला भी बहुत सामने आया है।

Meaning of NFTs in Hindi

NFTs एक ब्लॉकचेन पर अद्वितीय पहचान कोड और मेटाडेटा के साथ क्रिप्टोग्राफिक को संपत्ति करता हैं, जो अपनी NFTs के डेटा फ़ाइल को एक दूसरे से अलग करते हैं।

क्रिप्टो काउंक्शंस के विपरीत, इनका व्यापार या समकक्षता पर आदान-प्रदान नहीं किया जा सकता है। यह क्रिप्टो करेंसी जैसे वैकल्पिक टोकन से भिन्न है, जो एक दूसरे के समान हैं और इसलिए, वाणिज्यिक लेनदेन के लिए एक माध्यम के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

मार्च की शुरुआत में, डिजिटल कलाकार बीपल द्वारा एक NFTs के एक समूह को $69 मिलियन डॉलर से अधिक में बेचा गया था। यह अब तक बेची गई डिजिटल कला के सबसे महंगी वस्तु है। यह दुनिया के लिये एक मिसाल कायम की और नया एक रिकॉर्ड बनाया है। यह NFTs की वस्तु कलाकृति बीपल के के द्वारा बनाया गया पहले 5,000 दिनों के काम का एक कोलाज था।

NFTs का Full Form

NFTs का Full Form

दोस्तो आपको बता दे की NFTs का Full Form नॉन फंजिबल टोकन (Non Fungible Tokens) होता है। इसे हम लोग एक क्रिप्टोग्राफिक टोकन भी कहा सकते है। ये सिर्फ एक टोकन ही नहीं है, बल्कि आपके लिए कमाई और इंवेस्टमेंट का एक अच्छा जरिया है अगर आप इसमे इंवेस्टमेंट करते है तो। 

NFTs का मतलब क्या है?

Non-Fungible Tokens : NFT एक तरीके के डिजिटल टोकन होते हैं, जिन्हें असली चीजों यानी कि किसी पेंटिंग, गेम, म्यूजिक एलबम, मीम, कार्ड्स वगैरह चीजों से असाइन किया जाता है. कोई क्रिएटिव शख्स अपने स्किल को NFT के जरिए मॉनेटाइज़ करके बेच सकता है. डिजिटल स्पेस में NFTs (Non-Fungible Tokens) का नया क्रेज शुरू हुआ है

NFTs का उपयोग क्या है?

  • NFTs अद्वितीय क्रिप्टोग्राफिक टोकन हैं, जो एक ब्लॉकचेन पर मौजूद हैं और इसे दोहराया नहीं जा सकता है।
  • NFTs का उपयोग कलाकृति और अचल संपत्ति जैसी वास्तविक दुनिया की वस्तुओं का प्रतिनिधित्व करने के लिए किया जा सकता है।
  • NFTs के उपयोग से हम यह पता लगा सकते हैं कि किसी भी वस्तु का मालिक कौन है
  • इन वास्तविक दुनिया की मूर्त संपत्तियों को “टोकन करना” धोखाधड़ी की संभावना को कम करते हुए उन्हें अधिक कुशलता से खरीदने, बेचने और व्यापार करने की अनुमति देता है।
  • NFTs के उपयोग से किसी भी वस्तु के मालिक को डिजिटल रूप में संपादित किया जाता है
  • NFTs का उपयोग व्यक्तियों की पहचान, संपत्ति के अधिकार, और बहुत कुछ की पह्चान का प्रतिनिधित्व करने के लिए भी किया जा सकता है।
  • NFTs का उपयोग बिचौलियों को हटाने और कलाकारों को दर्शकों से जोड़ने या पहचान प्रबंधन के लिए भी किया जा सकता है।
  • NFTs बिचौलियों को हटा सकते हैं, लेनदेन को आसान बना सकते हैं और नए बाजार बना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें :-

NFTs कैसे काम करता हैं?

दोस्तो NFTs एक ब्लॉकचेन पर स्टोर है बिना ब्लॉकचेन के NFT का कोई भी अस्तित्व नही है, लेकिन वैसे तो थर्ड पार्टी बहुत सारे प्लेटफार्म है जहाँ पर NFT को बना कर ख़रीदा और बेचा जाता है। जैसे Binance, Smart Chain, EOS, TRON, WAX इत्यादि।

आपको बता दे की ETHEREUM एक येसा पहला प्लेटफार्म है, जिसने Smart Contract को सबसे पहले बनाया है, और फिर इसने सबसे पहली NFTs Cryptokitties को बनाया आपको बता दे की सबसे ज्यादा NFTs से सम्बंधित प्रोजेक्ट ETHEREUM पर ही बनाये जाते है।

आपको पता है की आज के जमाने मे हम इन्टरनेट परअपने इस्तेमाल के लिये जो चाहे वो इस्तेमाल कर सकते है फिर चाहे वो कोई तस्वीर हो या फिर कोई Music, Video आदि।

लेकिन आपको यह नही पता होगा की जब किसी वस्तु को NFTs की तरह बनाया जाता है तो फिर हम उसका इस्तेमाल नही कर सकते तब उसका इस्तेमाल सीमित होता है हर कोई उसका इस्तेमाल नहीं कर सकता, क्योंकी उस वस्तु का Tokenised करके एक Digital Certificate बना दिया जाता है, और फिर इसको ब्लाकचैन पर स्टोर कर दिया जाता है।

NFTs का इस्तेमाल डिजिटल असेट्स या कुछ ऐसी चीजों के लिए किया जाता है जो दुनिया में बिल्कुल अलग होती है और उनके जैसे आप कोई और वस्तु नहीं होती।

इससे इन NFTs की कीमत बिल्कुल अलग और विशिष्ट होती है। NFTs के माध्यम से आज के डिजिटल जमाने में किसी भी यूनिक पेंटिंग, किसी पोस्टर, ऑडियो या वीडियो को बेचा या खरीदा जा सकता है। 

इन वस्तुओ के बदले आपको डिजिटल टोकन मिलते हैं जिन्हें NFTs यानी नॉन फंजिबल टोकन कहा जाता है। नॉन फंजिबल टोकन को आप आज के जमाने में नीलामी की तरह समझ सकते हैं। इसमे , कोई आर्टवर्क या फिर कोई ऐसी चीज जो यूनिक हो और जिसकी पूरी दुनिया में दूसरी कॉपी न हो।

अगर आपकी NFTs लोगों को पसंद आती है तो लोग इसकी नीलामी यानी Online बोली लगाती हैं और हमें इसका अच्छा से अच्छा दाम मिलता है।

दोस्तो आपको ये भी बता दे की NFT का मालिक अपने इस NFTs के Digital Certificate को किसी को भी बेच सकता है।

इसका सबसे बड़ा फायदा ये है की जब भी वह व्यक्ति उस NFTs के Digital Certificate को आगे किसी और को बेचता है तो उस NFTs को बनाने वाले को उसमे से कुछ प्रतिशत कमीशन बाद मे भी मिलता रहेगा जब तक वो NFT आगे बिकती रहेगी।

NFTs कैसे बनाये और बेचे?

दोस्तों NFTs बनाने के लिए आपको किसी कला की जरूरत नहीं है, आपकी NFTs कुछ भी हो सकती है, और कैसी भी बना सकते हैं।

लेकिन आपकी NFTs सबसे अलग होनी चाहिए ऐसा ना हो कि आप इंटरनेट से किसी भी फोटो या वीडियो को उठाकर NFTs के रूप में बेचेंगे तो वह दिख जाएगी आपकी NFTs बिल्कुल यूनिक होने चाहिए और अभी तक वह इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं होनी चाहिए।

NFTs का बोलचाल की भाषा में मतलब होता है अनोखा यानी बिल्कुल यूनिक आप अपनी खुद की एक यूनिक पेंटिंग बनाकर बेच सकते है या फिर आप अपनी तस्वीर, गाने या किसी विडियो को भी NFTs के रूप मे भी बेच सकते है।

इसके बाद आपको यह तय करना है की आप आपनी NFTs को किस Blockchain पर रखना चाहते है चाहे तो आप उसको Ethereum की ब्लॉकचेन पर रख सकते हो जो की सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाती है।

एक बार अपनी NFT लिस्ट करने के बाद जितना ज्यादा आपके आर्ट की डिमांड होगी उतना ज्यादा आपके आर्ट की बोली लगाई जायेगी और उतने महंगे में उसके बिकने की सम्भावना होगी, आप चाहे तो खुद से भी अपने NFT की कीमत को Set कर सकते है।

NFTs क्यों जरूरी हैं?

भौतिक संपत्तियों के डिजिटल प्रतिनिधित्व को सक्षम बनाने के लिए NFTs बहुत जरूरी है। यह सुनिश्चित करने के लिए, भौतिक संपत्ति के डिजिटल प्रतिनिधित्व का विचार नया नहीं है और न ही विशिष्ट पहचान का उपयोग है।

हालांकि, जब इन अवधारणाओं को स्मार्ट अनुबंधों के छेड़छाड़-प्रतिरोधी ब्लॉकचेन के लाभों के साथ जोड़ा जाता है, तो वे परिवर्तन के लिए एक शक्तिशाली शक्ति बन जाते हैं।

NFTs का सबसे स्पष्ट लाभ बाजार की दक्षता को बढ़ाना है। यह भौतिक संपत्ति का डिजिटल में रूपांतरण प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करता है।

व्यक्तिगत पासपोर्ट को एनएफटी में परिवर्तित करके, प्रत्येक की अपनी विशिष्ट पहचान विशेषताओं के साथ, अधिकार क्षेत्र के लिए प्रवेश और निकास प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करना संभव है।

NFTs रियल एस्टेट जैसी भौतिक संपत्तियों को विभाजित करके निवेश का लोकतंत्रीकरण कर सकते हैं। इस प्रकार, एक पेंटिंग के लिए हमेशा एक ही मालिक होना जरूरी नहीं है। इसके डिजिटल समकक्ष में कई मालिक हो सकते हैं, प्रत्येक पेंटिंग के एक अंश के लिए जिम्मेदार होता है।

NFT और Cryptocurrency में क्या अंतर है?

NFTs भी Cryptocurrency की तरह ब्लॉकचेन पर चलती है परन्तु Cryptocurrency Fungible है यानि क्रिप्टोकरेंसी को आपस में बदला जा सकता है आप चाहे तो 1 Bitcoin के बदले में 1 Bitcoin को आपस में बदल सकते है जिनकी कीमत एक सामान ही रहेगी।

बिटकॉइन एक ऑनलाइन करेंसी है हम लोग बिटकॉइन को Ethereum या फिर कोई दूसरी क्रिप्टोकरेंसी को खरीद सकते है, पर वही NFT Non Fungible है आप इसमें ऐसा नहीं कर सकते आप एक NFT के बदले दूसरी NFT नहीं खरीद सकते क्योंकी दोनों की अलग पहचान है और दोनों एक दुसरे से पूरी तरह से अलग है।

निष्कर्ष 

दोस्तो हमे उम्मीद है की आपको NFTs के बारे में इस पोस्ट से बहुत कुछ जानने को मिला होगा की NFTs क्या है? aur कैसे काम करता है? NFT को कैसे बना सकते है? और अगर आप चाहे तो आप आसानी से अपनी NFT बनाकर NFT market place जैसे Openseas, Rarible, Super Rare आदि पर जाकर बेच सकते।

अगर आपके मन में NFT या क्रिप्टोकरेंसी से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट करके हमसे पूछ सकते है हमे आपके सवालो का जवाब देने में ख़ुशी होगी.

हम NFTs कैसे खरीद सकते है?

कई NFTs केवल ईथर के साथ खरीदे जा सकते हैं, इसलिए इस क्रिप्टोकुरेंसी में से कुछ का मालिक होना-और इसे डिजिटल वॉलेट में संग्रहीत करना-आमतौर पर पहला कदम है। फिर आप किसी भी ऑनलाइन एनएफटी मार्केटप्लेस के माध्यम से एनएफटी खरीद सकते हैं, जिसमें ओपनसी, रारिबल और सुपररेयर शामिल हैं।

क्या NFTs सुरक्षित हैं?

NFTs, जो क्रिप्टोक्यूरेंसी की तरह ही ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करते हैं, आमतौर पर यह सुरक्षित होते हैं। NFTs को हैक करना मुश्किल है, हालांकि असंभव नहीं है। NFT के लिए एक सुरक्षा जोखिम यह है कि यदि NFT को होस्ट करने वाला प्लेटफ़ॉर्म व्यवसाय से बाहर हो जाता है, तो आप अपने NFTs तक नही पहुँच सकते हैं।

NFT कैसे बनाएं?

1:- खुद का Token बनाने के लिए आपको सर्वप्रथम एक wallet की आवश्यकता होगी ERC – 721 को सपोर्ट करता हो
2:- यह wallet आपका ट्रस्ट wallet या Meta मास्क wallet हो सकता है यह wallet Ethereum के Blockchain technology पर आधारित होता है

4 thoughts on “[NEW 2022] NFTs क्या है? और NFT कैसे काम करता हैं?”

Leave a Comment

d3c62f11-b910-4777-82f9-e8b94f8d642e